How To Read The Geeta

गीता क्यों पढ़ें-Why To Read The Geeta

आज में किसी महान व्यक्ति की कहानी नही सुनाऊंगा, बल्कि व्यवहारिक व्यक्तित्व विकास की एक महान पुस्तक के बारे में बात करूंगा। आज मैं श्री भगवतगीता के बारे में बात करूंग, जिसके बारे में कई बड़े बड़े विद्वानों ने कहा है कि इसको पढ़ने के बाद किसी अन्य पुस्तक या ज्ञान की आवश्यकता नही रहती। लोग उसे सिर्फ धर्म विशेष की धार्मिक साहित्य समझते है। जबकि उसके 18 अध्यायों के 700 श्लोकों में स्वयं दुनिया के सबसे बड़े नायक ईश्वर ने व्यवहारिक बाते बताई है। गीता के 80% श्लोकों में भगवान सिर्फ कर्म करने के लिए उकसा रहे है। आज हम देखेंगे कुछ व्यहारिक श्लोक, जिन पर काफी कम चर्चा होती है। अधिकतर लोग महानायक श्री कृष्ण के परलौकिक चरित्र तक सीमित होते है। और मैं उनके व्यवहारिक ज्ञान से भी प्रेरणा लेता हूं। How To Read The Geeta

English Point
Learn Spoken English Easily

अध्याय 6 के श्लोक 5, 6, 7 में वे काफी व्यवहारिक बात करते है। वे कहते है जिन्होंने अपने मन अर्थात अपने दिमाग को वश में कर लिया है, वो ही सच्चा योगी या अपने क्षेत्र में सफल है। साधारण भाषा मे कहें, तो उन्होंने दिमाग को मनुष्य का सबसे बड़ा मित्र और शत्रु बताया है, जो कि 100% सही है। 

नए साल को सफल कैसे बनाएं How To Make New Year Successful

वहीं आगे अध्याय 6 के श्लोक 16, 17 में महानायक श्री कृष्ण कहते है, जो अधिक खाता है या कम खाता है, अधिक सोता या कम सोता है, उसके योगी या अपने क्षेत्र में सफल बनने की संभावना नही है। जो इन आदतों में नियमित  होता है या संतुलित आहार, नींद लेता है वो योगी है या सफल होगा। ये भी 100 % व्यवहारिक बात है। How To Read The Geeta

अध्याय 6 के श्लोक 26 में वे कहते है हमारा मन या दिमाग काफी चंचल है। इधर उधर भटकता है उसे खींचकर अपने वश में लाये और लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करे। इसकी महत्ता भी आप सभी जानते है। 

अध्याय  6 के श्लोक 34 में अर्जुन जैसा वीर योद्धा कहता है मन अर्थात दिमाग को कंट्रोल करना वायु को रोकने जैसा कठिन काम है क्योंकि ये बड़ा चंचल है। फिर श्लोक 35 में श्री कृष्ण जी कहते है दिमाग या मन को वश में रखना कठिन है, पर अभ्यास द्वारा संभव है। 

पढ़ाई में मन लगाने के 5 सूत्र How to Focus On Study 05 Tips

इसी अध्याय के श्लोक 40 में कृष्ण जी कहते है जो कल्याण कार्य मे लगा है, उसका इस लोक या उस लोक में कही विनाश नही होता। भलाई करने वाला कभी बुरे से पराजित नही होता। 

अब अध्याय 5 से कुछ व्यवहारिक बाते

श्लोक 5 में भगवान, अब भगवान इसलिए कहा कि अब वो परमात्मा या ईश्वर की बात करेंगे कि ईश्वर मनुष्य के पाप और पुण्य, कर्म ग्रहण नही करते। इनके कर्म और उनके फलों के लिए आप स्वम उत्तरदायी है। ये भी व्यवहारिक बात है। How To Read The Geeta

श्लोक 20 में महानायक कहते है जो प्रिय को पाकर ना हर्षित होता है ना अप्रिय से दु:खी, वो ब्रह्नम में स्थित या सत्य जानता है। अच्छा और बुरा कुछ भी स्थिर नही है। अच्छा है तो बुरा भी होगा। बुरा है तो अच्छा भी होगा। 

श्लोक 22 में वे कहते है जो मनुष्य बुद्धिमान है वो दु:खो के कारणो में भाग नही लेता। जो इंद्रियों के संसर्ग या उनकी वजह से होते है, उनका आदि या अंत होता है या निश्चित टाइम होता है। 

श्लोक 23 में और व्यवहारिक बात कहते है। आप सुखी तब है जब आप शरीर त्यागने से पूर्व के काम या भौतिक इच्छाएं और अपने क्रोध को वश में रखने योग्य बनते है। सुखी रहने का सूत्र है यह। How To, Why To Read The Geeta खुश रहना कैसे सीखें How To Learn To Be Happy 06 Tips

अब अध्याय 2 की कुछ व्यवहारिक बाते 

श्लोक 14,15 में वे कहते है सुख और दुख सर्दी और गर्मी ऋतुओं के समान आएंगे जायेगे मनुष्यो को इनको सहन करना सीखना चाहिए श्लोक 60, 61 में कहते है की इंद्रिया इतनी बलवान है कि विवेकी या समझदार इंसान की बुद्धि भी हर लेती है । और जो उन्हें वश में रख लेता है वो स्थिर बुध्दि होगा । श्लोक 63 में श्री कृष्ण जी क्रोध से बुध्दि या दिमाग के नाश और मनुष्य के पतन की बात कह रहे है । बाकी की बाते अगले अंक में तब तक जय श्री कृष्ण श्री कृष्णम शरणं मम How To Read The Geeta

शिक्षा : जैसे सूर्य का कार्य बिना भेदभाव के बिना धर्म, जाती देखे सबको प्रकाश देना है वैसे ही श्रीमद्भगवत गीता है सबको बिना भेदभाव सत्य और सफलता का मार्ग दिखाना है ।

यदि आपके पास हिंदी/इंग्लिश में कोई Article, Business Idea, Inspirational Story या जानकारी है जो आप दुनिया के साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें इस नंबर 9753978693 पर व्हाट्सएप करें। पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ badisuccess.com पर पब्लिश करेंगे। मेरा ब्लॉग पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। How To Read The Geeta

  1. भगवान गौतम बुद्ध के अनमोल विचार
  2. लियो टॉलस्टॉय-Leo Tolstoy के अनोखे थॉट्स
  3. पाणिनी और शिक्षा की रेखा
  4. महान अभिनेत्री मर्लिन मुनरो की कहानी
  5. Story of Real Devotion Can Change Your Life-सच्चा समर्पण
  6. Nick Vujicic-बिना हाथ पैरों के जीती जिंदगी की जंग
  7. मीडिया रानी ओपरा विनफ्रे सच्ची कहानी-Oprah Winfrey
  8. ग्रेट एथलीट उसैन बोल्ट की सीखने लायक 8 बातें Usain Bolt
  9. 20 साल की उम्र वालों के लिए 8 कड़वी सच्चाई 8 Tips
  10. कोई सच्चा दोस्त क्यों नहीं मिलता How To Find True Friend 04 Tips
  11. स्वामी विवेकानंद जी के सफलता पाने के 5 मूल मंत्र
  12. बच्चों की 4 समस्याओंं का हल How To Solve Child Problem
  13. मुनीबा मजारी-Iron Lady Of Pakistan How To Face Problem
  14. टॉपर बनना है ऐसे पढ़ो How to Study To Be a Topper 05 Tips
  15. कैसे विचार जीवन बदलते हैं How Great Ideas Change Your Life
Share & Help Others
error6
fb-share-icon100
Tweet 20
fb-share-icon20
बच्चों को प्रतिभावान कैसे बनाएं How To Make Child Genius
छात्र जीवन कैसे जिए How To Live Student Life 01 Tip

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *